माँ दुर्गा लोगो
Goddess Maa Vaishno Devi
http://hi.jaidevimaa.com/=>goddess=>vaishnodevi =>10-facts-about-vaishno-devi-yatra.php
माँ दुर्गा मुख्य देवीमाँ वैष्णो देवी पूजन विधि साईटमेप


माँ वैष्णो देवी के मंदिर की यात्रा

जम्मू कश्मीर के त्रिकुटा पर्वत पर माँ वैष्णो देवी का भव्य मंदिर भारत के सबसे बड़े मंदिरों में से एक है | भक्तो के लिए वैष्णो देवी यात्रा अति रोमांचक सिद्ध होती है | पहाड़ की चढ़ाई और फिर माँ के दर्शन , एक छोटी तपस्या का रूप इसे हम कह सकते है | वैष्णो देवी के मंदिर एक गुफा में जाकर है जहा माँ वैष्णो देवी तीन पिण्डियो के रूप में दर्शन देती है | आइये जानते है वैष्णो देवी यात्रा से जुडी 10 रोमांचक और रोचक बाते |

पढ़े : माँ वैष्णो देवी के मंदिर की कथा

  • वैष्णो देवी ने जिस जगह भैरोनाथ का वध किया था , उसी स्थान को माता रानी का भवन कहा जाता है | इसी जगह तीन पिंडियाँ दर्शन देती है |
  • तीन पिंडियो में बाए है माँ सरस्वती , मध्य में माँ लक्ष्मी और दाये है माँ काली | पढ़े : माँ वैष्णो देवी की तीन पिंडियो की महिमा
  • यदि आपको वैष्णो देवी के माता रानी के भवन में जाकर दर्शन करने है तो आपको यात्रा की पर्ची कटवानी पड़ेगी | यह यात्रा पर्ची छ घंटे तक मान्य रहती है | माँ  वैष्णो देवी मंदिर की यात्रा
  • गुफा में जिस जगह माँ विराजमान है उसे गर्भजून कहा जाता है |
  • यदि आप पैदल यात्रा नही करना चाहते तो आप हेलिकॉप्टर, पिट्टू किराये पर कर सकते है |
  • वैष्णो देवी यात्रा कटरा से शुरू हो जाती है | बाण गंगा में आपके सामान की चेकिंग होती है |
  • चढ़ाई यात्रा के बीच बीच में आपको जलपान , चाय , भोजन आदि रस्ते में मिल जायेंगे |
  • यात्रा खत्म होने पर माँ के दर्शन करे और फिर आराम करने के लिए भी आपको कई धर्मशाला और होटल मिल जाएगी |
  • वैष्णो देवी यात्रा के लिए सबसे ज्यादा उपयुक्त समय गर्मी का बताया गया है |
  • भैरोनाथ का शीश माता के मंदिर से 3 किलोमीटर ऊपर गिरा था जहा भैरवोनाथ मंदिर बना हुआ है | इस मंदिर में जाके भी दर्शन जरुर करने चाहिए तभी यह यात्रा सफल मानी जाती है |

माँ वैष्णो देवी चालीसा

माँ वैष्णो देवी की कथा

vaishno devi hd wallpaeprs

माँ वैष्णो देवी की आरती