माँ दुर्गा लोगो
Goddess Maa Durga
http://hi.jaidevimaa.com/=>temples=>naina-dev-mandir.php =>
माँ दुर्गा मुख्य देवीमाँ वैष्णो देवी पूजन विधि साईटमेप


नैना देवी मंदिर बिलासपुर

Naina Devi Temple Idol Darshan    नैना देवी या नयना देवी मंदिर हिमाचल प्रदेश के बिलासपुर जिले में है। यह भी माँ शक्ति का एक सिद्ध पीठ है जो ह शिवालिक पर्वत श्रेणी की पहाड़ियो पर समुद्र तल से 11000 मीटर की ऊंचाई पर स्थित है स्थित है। नैना देवी हिंदूओं के पवित्र तीर्थ स्थलों में से एक है। यह स्थान NH-21 से जुड़ा हुआ है। मंदिर तक जाने के लिए पद मार्ग या उड़्डनखटोले से भी जा सकते है | मान्यता है कि इस स्थान पर देवी सती के नेत्र गिरे थे। मंदिर में पीपल का पेड़ मुख्य आकषर्ण का केन्द्र है जो कि अनेको शताब्दी पुराना है। मंदिर के गुम्बद सोने से बने हुए है | मंदिर निर्माण में सफेद मार्बल काम में लिए गये है | मुख्य गुम्बद पर नैना देवी को समर्प्रित झंडे दिखाई देते है | कुछ गुम्बदो पर शिव त्रिशूल भी लगे हुए है |
मंदिर के मुख्य द्वार के दाई ओर भगवान गणेश और हनुमान कि मूर्ति है। मुख्य द्वार के के आगे दो शेर की प्रतिमाएं दिखाई देती है जो शेरोवाली की मुख्य सवारी है | मंदिर के गर्भग्रह में मुख्य तीन मूर्तियां है। दाई तरफ माँ काली , मध्य में नैना देवी की और बाई ओर भगवान श्री गणपति की प्रतिमा है। पास ही में पवित्र जल का तालाब है जो मंदिर से कुछ ही दूरी पर स्थित है। मंदिर के समीप एक गुफा है जिसे नैना देवी गुफा के नाम से जाना जाता है |

नैना देवी मंदिर की एक और कथा :

इस कथा के अनुसार एक गुज्जर लड्का जिसका नाम नैना राम था अपने गाँव में मवेशियो को चराया करता था | एक दिन उसने देखा की एक सफेद गाय के थनो से अपने आप दुध निकल कर एक पत्थर पर गिर रहा है और पत्थर द्वारा पिया जा रहा है | यह क्रिया वो अब रोज देखने लगा | एक रात्री माँ ने सपने में उसे दर्शन दिए और बताया की वो सामान्य पत्थर नहीं अपितु माँ की पिंडी है | यह बात नैना राम ने उस समय के राजा बीर चंद को बताई और राजा ने माँ नैना देवी का मंदिर निर्माण किया |

मंदिर कैसे पहुँचे ?

यह मंदिर दिल्ली से 350 किमी और चंडीगढ़ से 100 किमी की दुरी पर है | लुधियाना: 125 कि॰मी॰ दूर और चिन्तपूर्णी मंदिर 110 कि॰मी॰ दूर है |
सबसे पास का हवाईअद्दा चंडीगढ़ है | रैल्वे स्टेशन सबसे नजदिकी आनंदपुर साहिब है जहा से मंदिर 30 किमी की दुरी पर है | आनंदपुर साहिब से आसानी से टैक्सी बस मंदिर जाने के लिए मिल जाती है | रोड रास्ते के हिसाब से यह नेशनल हाईवे 21 पर पड़ता है |

देखे नैना देवी मंदिर बिलासपुर फोटो

देखे माता रानी के दुसरे मुख्य मंदिर


स्वर्ण महालक्ष्मी मंदिर श्रीपुरम महालक्ष्मी कोलापुर

वज्रेश्वरी देवी अम्बाजी मंदिर

मन्सा देवी मंदिर कालका माता

तनोट माता हरसिद्धि माता मंदिर उज्जैन

माँ चिंतपुरणी मंदिर ज्वाला देवी मंदिर

नैना देवी मंदिर कामाख्या देवी